Monday, December 18, 2017
Headlines
भ्रष्ट अधिकारियों पर फिर बिफरे सीएम, बोले भ्रष्टों को टांग दो  ||   भोपाल में खुले में शौच पर लगाया 500 रुपये का जुर्माना  ||   धूमधाम से मनाया गया शंकराचार्य जी का प्राकट्योत्सव  ||  सच में लोकतंत्र है तो धार्मिक आस्थाओं से खिलवाड़ नहीं होगा : आजम खान  ||  मुस्लिम महिलाओं के लिए नए युग की शुरुआत : अमित शाह  ||  ट्रिपल तलाक पर के फैसले पर बोले पीएम, महिला सशक्‍तीकरण की दिशा में अहम कदम  ||  मोदी कैबिनेट का जल्द हो सकता है विस्तार  ||  ट्रिपल तलाक के फैसले पर औवेसी का जानिए रिएक्शन  ||  संघर्ष समाप्त करने के लिए एकमात्र रास्ता है बातचीत: PM मोदी  ||  Jet Airways की बड़ी लापरवाही, 174 यात्रियों की जान खतरे में डाली  ||  7 अगस्त को सामूहिक रूप से मनाया जायेगा श्रावणी उपाकर्म  ||  राहुल गांधी कार हमला मामले में BJP के युवा मोर्चा का नेता गिरफ्तार  ||  सोपोर में मुठभेड़, 3 आतंकी ढेर, 1 जवान घायल  ||  98.21% हुआ मतदान, शाम 7 बजे नए उप राष्ट्रपति के नाम का ऐलान  ||  PM मोदी ने रामेश्वरम में किया डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम स्मारक का उद्घाटन  ||  न्यूनतम वेतन विधेयक को केन्द्र से मिली मंजूरी, 4 करोड़ कर्मचारियों को मिलेगी राहत  ||  राहुल-शरद यादव की मुलाकात से JDU-BJP में हड़कंप  ||  आज रात 12 बजे खुलेंगे महाकाल के नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट  ||   अनोखे लड्डू गोपाल भोपाल में  ||  रूस व नेपाल के उप प्रधानमंत्री ने पीएम नरेंद्र मोदी से भेंट की  ||  

और अब शशिकला

और अब शशिकला
Bookmark and Share
तमिलनाडु में जिस तरह से सत्ता परिवर्तन हो रहा है, वह भारतीय जनतंत्र की कुछ अजीबोगरीब उदाहरणों में शुमार किया जाएगा। आज तक कभी भी, कोई भी चुनाव न लडऩे वाली शशिकला वहां की मुख्यमंत्री बनने जा रही हैं। अपने यहां किसी बड़े लीडर के अचानक दृश्य से हट जाने के बाद आमतौर पर उसके किसी निकट संबंधी को उपहार में यह पद मिलता रहा है। शशिकला के साथ ऐसा भी नहीं है। उन्हें राज्य का सबसे बड़ा राजनीतिक पद सिर्फ इसलिए सौंपा जा रहा है कि वे राज्य की दिवंगत नेता जयललिता की करीबी रही हैं। जयललिता की मृत्यु के बाद से ही कयास लगाया जा रहा था कि शशिकला सत्ता पर काबिज हो सकती हैं, और ठीक ऐसा ही हुआ। पहले वह पार्टी महासचिव चुनी गईं और अब विधायक दल की नेता भी चुन ली गई हैं।
देखना है, मुख्यमंत्री के रूप में वे कैसा प्रदर्शन करती हैं। कुछ लोग मानते हैं कि उनके पास असाधारण क्षमता है, तभी तो एक नौकरशाह की पत्नी और एक घरेलू महिला की स्थिति से ऊपर उठकर वे सीएम की विश्वासपात्र बन गईं। वे न सिर्फ प्रशासनिक तंत्र की बारीकियों को बखूबी समझती हैं बल्कि राजनीति के हर दांव-पेच की गहरी समझ भी रखती हैं। जयललिता के कार्यकाल के दौरान उन्हें शैडो सीएम कहा ही जाता था। इसलिए यह माना जा रहा है कि राज्य की राजनीति और प्रशासन पर अपनी पकड़ बनाने में उन्हें ज्यादा देर नहीं लगेगी। उनका उस थेवर समुदाय से होना भी उनके पक्ष में जाता है, जो एआईडीएमके की राजनीति का एक प्रमुख आधार स्तंभ है। समाज के वंचित तबकों को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने की जयललिता-नीति पर चलते रहना उनके एक बाजू को हमेशा दुरुस्त बनाए रखेगा। यह बात और है कि राज्य की आर्थिक स्थिति लडख़ड़ाई हुई है और उपहार-योजनाओं के लिए पैसे जुटाना उनके लिए बहुत आसान नहीं होगा।
वैसे उनके रास्ते में कई बाधाएं भी हैं। पार्टी के ज्यादातर विधायक उनके साथ हैं, लेकिन जमीनी कार्यकर्ताओं में उनके प्रति वैसा उत्साह नहीं है। शशिकला 1996 से ही कई मुकदमों में भी फंसी हैं। आय से अधिक संपत्ति वाले मामले में कुछ ही दिनों में फैसला आ सकता है। यह उनके खिलाफ गया तो राज्य को अस्थिरता का एक और दौर झेलना पड़ सकता है। शशिकला के पति एम नटराजन के अलावा भतीजों दिनाकरन और सुधाकरन पर भी कई मामले चल रहे हैं। जयललिता की भतीजी दीपा जयकुमार ने शशिकला के सत्ता में आने की तुलना तख्तापलट से की है। शशिकला की विरोधी मानी जाने वाली राज्यसभा सांसद और पार्टी से निष्कासित नेता शशिकला पुष्पा ने पीएम को चि_ी लिखकर सत्ता परिवर्तन का विरोध किया है। विपक्षी डीएमके तो खुलकर उनका विरोध कर ही रही है। शशिकला को अपने परिवार के लोगों की राजनीतिक महत्वाकांक्षा पर भी रोक लगानी होगी। बताते हैं, उनके परिवार में ही छह सत्ता केंद्र हैं। इन विपरीत परिस्थितियों में शशिकला को तत्काल अपनी नेतृत्व क्षमता दिखानी होगी, क्योंकि यह पहला मौका ही उनके लिए आखिरी भी साबित हो सकता है।
 

investigate

Prev Next

ओर भी..

View All

चकल्लस

ट्रिपल तलाक के फैसले पर औवेसी का जानिए रिएक्शन

Jet Airways की बड़ी लापरवाही, 174 यात्रियों की जान खतरे में

संतों से क्यों कन्नी काट रहे हैं कमलनाथ

मलेरिया की आड़ में साहब की नई गाड़ी

Next Prev
Copyright © 2012
Designing & Development by Swastikatech.com