Monday, December 18, 2017
Headlines
भ्रष्ट अधिकारियों पर फिर बिफरे सीएम, बोले भ्रष्टों को टांग दो  ||   भोपाल में खुले में शौच पर लगाया 500 रुपये का जुर्माना  ||   धूमधाम से मनाया गया शंकराचार्य जी का प्राकट्योत्सव  ||  सच में लोकतंत्र है तो धार्मिक आस्थाओं से खिलवाड़ नहीं होगा : आजम खान  ||  मुस्लिम महिलाओं के लिए नए युग की शुरुआत : अमित शाह  ||  ट्रिपल तलाक पर के फैसले पर बोले पीएम, महिला सशक्‍तीकरण की दिशा में अहम कदम  ||  मोदी कैबिनेट का जल्द हो सकता है विस्तार  ||  ट्रिपल तलाक के फैसले पर औवेसी का जानिए रिएक्शन  ||  संघर्ष समाप्त करने के लिए एकमात्र रास्ता है बातचीत: PM मोदी  ||  Jet Airways की बड़ी लापरवाही, 174 यात्रियों की जान खतरे में डाली  ||  7 अगस्त को सामूहिक रूप से मनाया जायेगा श्रावणी उपाकर्म  ||  राहुल गांधी कार हमला मामले में BJP के युवा मोर्चा का नेता गिरफ्तार  ||  सोपोर में मुठभेड़, 3 आतंकी ढेर, 1 जवान घायल  ||  98.21% हुआ मतदान, शाम 7 बजे नए उप राष्ट्रपति के नाम का ऐलान  ||  PM मोदी ने रामेश्वरम में किया डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम स्मारक का उद्घाटन  ||  न्यूनतम वेतन विधेयक को केन्द्र से मिली मंजूरी, 4 करोड़ कर्मचारियों को मिलेगी राहत  ||  राहुल-शरद यादव की मुलाकात से JDU-BJP में हड़कंप  ||  आज रात 12 बजे खुलेंगे महाकाल के नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट  ||   अनोखे लड्डू गोपाल भोपाल में  ||  रूस व नेपाल के उप प्रधानमंत्री ने पीएम नरेंद्र मोदी से भेंट की  ||  

भोपाल महकेगा खुशी की खुशबू से

भोपाल महकेगा खुशी की खुशबू से
Bookmark and Share
भोपाल। लोगों ने मुझे जब से खुशी पुकारना शुरू किया है, मुझे जीने का नया मकसद मिल गया है। मैं भी अपने इस नाम को सार्थक करने में जुटी हुई हूं। अपने अनुभव और शिक्षा से मैं भारत में खुशी मिशन पर हूं और मुझे कामयाबी मिल रही है।  बहुत जल्द ही भोपाल और इंदौर में मोटिवेशनल एटीट्यूड प्रोग्राम के जरिए मैं एजूकेशन, योग, फैषन, टूरिज्म और ऑन साइट जॉब के बारे में एक्सपीरिएंस शेयर करूंगी। यह कहना है जानी मानी स्टाइलिस्ट, फैशन डीवा और यूथ मोटिवेशनल ट्रेनर खुशबू उपाध्याय का। खुशबू ने कहा कि भोपाल-इंदौर जैसे शहर एजूकेशन हब की तरह उभर रहे हैं। यूथ को एजूकेशन तो मिल रहा है, लेकिन उसे मोटिवेशन की सख्त जरूरत है। यूथ तभी फोकस्ड हो सकेगा जब वह खुश हो न कि डिप्रेस्ड। यहां का शांतिपूर्ण और हरा-भरा वातावरण तो है, लेकिन फैशन और टूरिज्म के मामले में अभी काफी गुंजाइश है। 
पूर्व एयरहोस्टेस और कई इंटरनेशनल एयर लाइन्स में सालों तक काम कर चुकी खुशबू ने कहा कि मेरा नया नाम खुशी ही दरअसल मेरा काम है और इसी दिशा में मैं काम कर रही हूं। उन्होंने बताया कि दुनिया के कई देशों में जाने और उन्हें समझने का मौका मिला। हर संस्कृति की अपनी एक अलग मिसाल है। डांस, हेल्थ, फिटनेस और फैशन को लेकर अलग-अलग देशों में रोचक तौर-तरीके हैं। उनकी अच्छाइयों को अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। अच्छा काम और अच्छा ध्यान रखने से जीने का मजा आएगा, यह बेहद सरल काम है। उन्होंने कहा कि फैशन को लेकर उनके किए गए प्रयोग, टूरिज्म के ट्रेंड और लाइव इवेंट्स को लेकर उनके काम को इंटरनेशनल लेवल पर सराहना मिली है। खुशबू ने बताया कि बचपन में वह गुडिय़ों से नहीं खेलती थी, बल्कि उन्हें हवाई जहाज अधिक पसंद था। समय के साथ-साथ यह लगाव बढ़ा और पारिवारिक दबाव के बावजूद उन्होंने आसमान का रूख कर लिया। परिवार की इच्छा थी कि खुशबू टीचिंग या किसी आफिस में काम करें, लेकिन फिर खुशबू के लगाव को देखते हुए उन्होंने इजाजत दे दी।
फैशन डीवा खुशबू बताती हैं कि मैंने हमेशा पढ़ाई और स्किल डेवलपमेंट के साथ साथ खुश रहने को तव्वजो दी। हमेशा अपनी पर्सनाल्टी, फैशन, हेल्थ का ध्यान रखा और इसके लिए बाकायदा ट्रेनिंग भी ली। उन्होंने कहा कि मेरी डांस, एयरोबिक और योग अभ्यास कई सालों से निरंतर बना हुआ है। इससे न केवल मैं फिट हूं बल्कि ऑड अवर या तनाव में भी शांत रहते हुए मैं काम कर सकती हूं। इंटरनेशनल एयर होस्टेस के लिए बहुत कड़ी प्रतिस्पर्धा होती है और आपका चुनाव कई देशों के युवाओं के बीच से होता है। ऐसे में आपको बेस्ट होना और बेस्ट करके दिखाना होता है। ऐसे में छोटे शहर या राज्य में जॉब करना बेहद आसान लगता है। इस अंतर को मैंने करीब से समझा है। अब इसी अनुभव को मैं लोगों खासतौर पर कारपोरेट इवेंट्स और स्कूल- कॉलेज के युवाओं के साथ साझा कर रही हूं ताकि वे भी अपने सपने पूरे कर सकें। बड़ी और नामचीन इंटरनेशनल एयर लाइन्स में लंबे समय तक परफैक्ट काम करने के कई फायदे भी है। इससे कई देषों की संस्कृति और उनके बारे में गहराई से जानने का मौका मिलता है और उन सब के बारे में आप स्वयं सोच-समझकर अपना विचार बना सकते हैं। सुनी-सुनाई बातों पर कभी यकीन नहीं करना चाहिए। दुनिया के कई शहरों के फैशन को देख-परखने के बाद आप यह जान लेते हैं कि लोगों पर किस रंग और किस ढंग के कपड़ों का कैसा प्रभाव पड़ता है? फैशन स्टेट्समेंटस और ट्रेंड को लेकर भी आपके पास कई अहम जानकारी होती है, जिससे आप लोगों को गाइड भी कर सकती हैं। इस अनुभव के साथ मैं कई प्रोफेशनल्स और बिजनेसमैन्स को ग्रूम कर रही हूं। 
हमारा भारत ही सबसे अच्छा
'सारे जहां से अच्छा हिंदोस्तां हमाराÓ यह बात खुशबू कहते हुए चहक उठतीं हैं, उनका कहना है कि मैंने पूरी दुनिया के कई देशों में लंबा समय बिताया है। वहां के लोगों के बारे में जाना-समझा है, लेकिन सारे जहान से अच्छा है अपना देश। इसका कारण है यहां की विविधता और सांस्कृतिक विरासत। खुशबू ने कहा कि इंद्रधनुशी रंगों वाली भारतीय संस्कृति में विष्व को नया रास्ता दिखाने की क्षमता है और बहुत सारे देशों में भारत का अनुसरण हो रहा है। अपने अनुभवों को अब वे देश के युवाओं के साथ साझा कर रही हैं, कई स्कूल और कॉलेजों में जाकर वह युवाओं को प्रोत्साहित कर चुकीं हैं और कई युवाओं को गु्रम कर रही हैं।

 

investigate

Prev Next

ओर भी..

View All

चकल्लस

ट्रिपल तलाक के फैसले पर औवेसी का जानिए रिएक्शन

Jet Airways की बड़ी लापरवाही, 174 यात्रियों की जान खतरे में

संतों से क्यों कन्नी काट रहे हैं कमलनाथ

मलेरिया की आड़ में साहब की नई गाड़ी

Next Prev
Copyright © 2012
Designing & Development by Swastikatech.com